जानिए किस वजह से युसूफ पठान डोप टेस्ट में हुए फेल

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

!!ये है न्यूज़ ऑफ़ माय इंडिया!!
भारतीय ऑलराउंडर यूसुफ पठान को बीसीसीआई ने डोप टेस्ट में फेल होने पर पांच महीने के लिए निलंबित कर दिया है. बीसीसीआई ने मंगलवार को जारी अपने बयान में कहा है कि पठान को प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन के लिए निलंबित किया गया है. यह पदार्थ आमतौर पर कफ सिरप (खांसी की दवा) में पाया जाता है.

पठान ने बीसीसीआई के डोपिंग रोधी टेस्ट कार्यक्रम के दौरान 16 मार्च, 2017 को नई दिल्ली में घरेलू टी-20 मैच के तहत यूरिन सेंपल दिया था. उनके इस सेंपल की जांच की गई और इसमें प्रतिबंधित पदार्थ ‘टब्र्यूटेलिन’ की मात्रा पाई गई. एजेंसी के मुताबिक ‘टब्र्यूटेलिन’ एक ऐसा पदार्थ है, जो विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (वाडा) की प्रतिबंधित दवाओं की सूची में शामिल है. इस मामले में पठान पर 27 अक्टूबर 2017 को बीसीसीआई विरोधी डोपिंग नियम (एडीआर) अनुच्छेद 2.1 के तहत एक डोपिंग विरोधी नियम उल्लंघन (एडीआरवी) का आरोप लगाया गया था और अस्थायी रूप से निलंबित किया गया था.

पठान ने डोपिंग रोधी नियम उल्लंघन की बात स्वीकार की और कहा कि उन्हें जो दवाई लिखी गई थी, उसके अलावा उन्हें कोई और दवाई दी गई, जिसमें ‘टब्र्यूटेलिन’ की मात्रा शामिल थी. पठान ने हालांकि कहा कि उन्होंने जानबूझकर इस दवा का सेवन नहीं किया है और इसके सेवन का मकसद सिर्फ गले में जारी संक्रमण से छुटकारा पाना था, न कि अपने प्रदर्शन को सुधारना था.

बीसीसीआई ने पठान के स्पष्टीकरण को माना और इस बात को समझा कि अपर रेस्पाइरेटरी ट्रेक्ट इन्फेक्शन (यूआरटीआई) के इलाज के लिए उन्हें गलती से ‘टब्र्यूटेलिन’ दिया गया. इस बात को मानते हुए बीसीसीआई ने पठान पर पांच माह का निलंबन लगाया है, जो 15 अगस्त 2017 से लागू हुआ और यह निलंबन 14 जनवरी, 2018 को समाप्त हो जाएगा. इस बीच घरेलू सत्र में खेले गए उनके मैचों के परिणामों को भी रद्द किया जा सकता है. हालांकि युसूफ पठान का निलंबन खत्म होने के बाद अप्रैल में शुरू हो रहे आईपीएल 11 में उनके खेलने का रास्ता साफ हो सकता है.

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*