महिला ने ससुराल में काटा पति का प्राइवेट पार्ट और ले गई मायके, जानिये क्यों ?

<script async custom-element=”amp-auto-ads”
src=”https://cdn.ampproject.org/v0/amp-auto-ads-0.1.js”>
</script>

महिला ने ससुराल में काटा पति का प्राइवेट पार्ट और ले गई मायके,
जानिये क्यों ?

ये है न्यूज़ ऑफ़ माय इंडिया !!

तमिलनाडु, गुडियट्टम इलाके के लिंगुदरम में एक महिला को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, ये महिला पाने ही पति का प्राइवेट पार्ट (लिंग) काटकर अपने पर्स में रख मायके ले जा रही थी। ये अजीबोगरीब मामला पति और पत्नी के बीच हुए विवाद का नतीजा है। दरअसल, दोनों के बीच झगडा इस बात को लेकर हुआ कि पति पत्नी की गैर मौजूदगी में दूसरी महिलाओं को घर लाता है और उनके साथ शारीरिक संबंध बनाता है।

कहानी थोड़ी उलझी हुई है, करीब 14 साल पहले दोनों ने प्रेम विवाह किया लेकिन शादी के बाद से ही विवाद होने लगे तो पत्नी अलग रहने चली गयी, दो बच्चों की माँ होने के बावजूद पिता ने बच्चो को अपने पास रखा। एक दिन जब बच्चों के कहने पर महिला घर आयी तो बच्चों ने उसे घर पर ही रुकने का आग्रह कर दिया, इसके बाद देर रात जो हुआ वो दिल दहला देने वाला है। पत्नी ने पति महिलाओं के साथ संबंध बनाने की बात पर झगड़ा किया और फिर गुस्से में आकर चाकू से पति का प्राइवेट पार्ट ही काट डाला।

घटना के बाद दर्द के चलते पति जोर-जोर से चिल्लाने लगा। उसका शोर सुनकर आस-पास के लोग भी मौके पर आ गए। उसके बाद पति को अस्पताल ले जाया गया जहां सर्जरी के बाद उसकी हालत में सुधार हुआ। हंगामा बढ़ता देख महिला ने पति का प्राइवेट पार्ट अपने पर्स में रखा और मायके के लिये मगर, पुलिस ने उसे आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

बिस्तर पर आ जाओ हो जाएगी पीएचडी ?

 

क्लास के दौरान 10th की स्टूडेंट ने दिया बच्चे को जन्म, फिर उसकी सच्चाई जानकर हर कोई हैरान रह गया

यूपी की जेल में 1 बंदी ने काट डाला दूसरे बंदी का प्राइवेट पार्ट, जानिये क्यों ?

धोखेबाज महिला: कृतिम लिंग का इस्तेमाल कर महिलाओ के साथ करती थी सेक्स

<script async src="//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js"></script> <script>      (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({           google_ad_client: "ca-pub-9844829140563964",           enable_page_level_ads: true      }); </script>

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*