किशोर कुमार के कॉलेज में आज भी सुनाई देते हैं उनके तराने

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

किशोर कुमार के कॉलेज में आज भी सुनाई देते हैं उनके तराने

ये है न्यूज़ ऑफ़ माय इंडिया

इंदौर, एमपी के इंदौर में पढ़ाई करते हुए बॉलीवुड के ख्यात गायक किशोर कुमार की आवाज़ का जादू दिखाई देने लगा था, संगीत से उनका गहरा लगाव कॉलेज में दूर-दूर तक मशहूर था। इंदौर के जिस कॉलेज में वो रहे वहाँ आज भी किशोर के तराने सुनाई देते हैं और उनके होने का एहसास भी होता है। वैसे मूलरूप से किशोर कुमार इंदौर के नजदीक खंडवा के रहने वाले थे, मगर इंदौर में रहकर ही उन्होंने अपनी गायकी को संवारा। वो जहाँ-जहाँ भी सार्वजनिक कार्यक्रमों में जाते थे अपने जन्मस्थान की पहचान जरूर बताते थे और शान से कहते थे किशोर कुमार खंडवे वाले, अपनी जन्म भूमि और मातृभूमि के प्रति ऐसा जज्बा बहुत कम लोगों में दिखाई देता है।

इंदौर के क्रिश्चन कॉलेज में पढ़े किशोर कुमार इन्ही गलियारों में तराने बनाते थे और अपने सहपाठियों को सुनाते थे, इसीलिए कई बार यहाँ के स्टूडेंट्स को किशोर के तराने सुनाई देने का एहसास भी होता है। उनकी आदत थी कॉलेज की कैंटीन से उधार लेकर खुद भी खाना और दोस्तों को भी खिलाना। वह ऐसा समय था जब 10-20 पैसे की उधारी भी बहुत मायने रखती थी। किशोर कुमार पर जब कैंटीन वाले के पांच रुपया बारह आना उधार हो गए और कैंटीन का मालिक जब उनको अपने पांच रुपया बारह आना चुकाने को कहता तो वे कैंटीन में बैठकर ही टेबल पर गिलास और चम्मच बजा बजाकर पांच रुपया बारह आना गा-गाकर कई धुन निकालते थे, यहीं से उन्होंने अपना मशहूर गाना ‘पांच रूपइया बारह आना…’ तैयार किया था।

स्वभाव से बेहद चंचल किशोर कुमार के नाम पर आज भी इंदौर के इस कॉलेज में कई कार्यक्रम किये जाते हैं, यही वजह है कि किशोर कुमार के कॉलेज में आज भी सुनाई देते हैं उनके तराने।

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*