देश के भारत रत्न के साथ कांग्रेस ने किया ऐसा बर्ताव

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

दोपहर 2 बजे जब राज्य सभा की कार्यवाही शुरू हुई तो क्रिकेट लेजेंड सचिन तेंदुलकर को अपना पहला भाषण करना था. सचिन इसके लिए तैयारी करके आए थे. उन्होंने अपना भाषण लिखकर रखा था. दरअसल, खेल के भविष्य और खेलने के अधिकार को लेकर दोपहर को शॉर्ट ड्यूरेशन की चर्चा थी, जिसमें सचिन के साथ-साथ पीएल पुनिया को भी अपनी बात रखनी थी.

मगर, सदन शुरू होते ही कांग्रेस की नारेबाजी के चलते सचिन 15 मिनट तक खड़े रहे. कांग्रेस 2G और प्रधानमंत्री माफी मांगो के नारों के बीच अपने हंगामे में डूबी हुई थी. सभापति ने उनसे अपील की कि वह देश के भारत रत्न को बोलने दें. फिर परेशान होकर कहा कि देश ये तस्वीर देख रहा है. जब कांग्रेसी नहीं माने तो उन्होंने उनके विरोध को ऑफ रिकॉर्ड करने के आदेश दिए.

15 मिनट बाद राज्यसभा स्थगित कर दी गई और सचिन अपना भाषण नहीं कर पाए. स्थगन के बाद तमाम सांसद सचिन को घेर कर खड़े हो गए, इसमें जया बच्चन भी खड़ी थीं. गौरतलब है कि जया बच्चन हंगामे के बीच में बार-बार कांग्रेस से अनुरोध कर रही थीं कि वह सचिन को बोलने दें. बीच में डेरेक ओ ब्रायन की तरफ से यह कोशिश हुई कि कांग्रेस 3 बजे सचिन को भाषण देने दे, पर बात नहीं बनी.

इस पूरे बवाल के दौरान सचिन की पत्नी अंजलि विजिटर्स गैलरी में बैठे हुए सदन की कार्यवाही को गौर से देख रही थीं. अब जया बच्चन का कहना है कि इस तरह तो कोई भी नॉमिनेटेड सदस्य बोलने का साहस नहीं करेगा, ना ही उसको इच्छा होगी. वह कांग्रेस के रवैये से बेहद हताश हैं.

उनका कहना है कि कांग्रेस ने सचिन तेंदुलकर को बोलने नहीं दिया. भारत रत्न देखकर भी उनका सम्मान नहीं रखा. क्या इस राज्यसभा में सिर्फ सियासतदानों के भाषण होंगे. सिर्फ वह जो चिल्ला सकते हैं, वही बोलेंगे. कोई भी साधारण आदमी एक्सपर्ट खिलाड़ी नहीं बोल सकता.

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*