भगवान राम के ससुराल जायेंगे पीएम मोदी !

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

कर्नाटक चुनाव से एक दिन पहले 11 मई को पीएम मोदी नेपाल के जनकपुर शहर पहुंचेंगे. पीएम का इस बार का नेपाल का दौरा धार्मिक-सांस्कृतिक महत्व का होगा. नेपाल में पीएम जनकपुर से अयोध्या तक एक बस सेवा की शुरुआत और रामायण सर्किट टूरिस्ट योजना को लेकर ठोस पहल कर सकते हैं.

जनकपुर सीता का जन्मस्थान है. सीता मिथिला नरेश जनक की पुत्री थीं और ये स्‍थान अब नेपाल में है. इसीलिए ये श्री राम का ससुराल है और माता सीता का मायका है. पीएम मोदी जनकपुर के जानकी मंदिर जाएंगे, जहां वे आधे घंटे तक पूजा करने के बाद एक जनसभा को संबोधित करेंगे. प्रधानमंत्री 11 और 12 मई को नेपाल के दौरे पर रहेंगे. 12 मई को कर्नाटक में विधानसभा के चुनाव हैं.

जानकी मंदिर नेपाल के जनकपुर के केन्द्र में स्थित एक हिन्दू मंदिर है. यह हिन्दू देवी सीता को समर्पित है. मंदिर की बनावट में हिन्दू-राजपूत वास्तुकला देखने को मिलती है. कई लोग इसे नौलखा मंदिर भी कहते हैं. कुछ लोग इसे जनकपुरधाम भी कहते हैं. बताते हैं कि जानकी मन्दिर का निर्माण मध्य भारत के टीकमगढ़ की रानी वृषभानु कुमारी ने करवाया गया था

1657 में देवी सीता की स्वर्ण प्रतिमा यहां मिली थी और मान्यतानुसार यहीं सीता माता विवाह पूर्व रहा करती थीं. मान्‍यता के अनुसार इस स्थान की खोज एक संन्यासी शुरकिशोरदास ने की थी, जब उन्हें यहां सीता माता की प्रतिमा मिली थी. शुरकिशोरदास ही आधुनिक जनकपुर के संस्थापक भी थे.

मान्यता अनुसार राजा जनक ने इसी स्थान पर शिव-धनुष के लिये तप किया था. यहां मंदिर का निर्माण 1895 में आरंभ होकर 1911 में पूर्ण हुआ था. मन्दिर परिसर एवं आसपास 115 सरोवर एवं कुण्ड हैं, जिनमें गंगासागर, परशुराम कुण्ड एवं धनुष-सागर अत्याधिक पवित्र माने जाते हैं. राम नवमी के दिन इस मंदिर में खास कार्यक्रम होता है.

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*