भारत में दर्ज 100 साल पुराने मामले का पाक SC ने सुनाया फैसला

<script async custom-element=”amp-auto-ads”
src=”https://cdn.ampproject.org/v0/amp-auto-ads-0.1.js”>
</script>

इस्लामाबादः भारत में दर्ज 100 साल पुराने एक मामले का पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को अपना फैसला सुनाया। जानकारी के मुताबिक राजस्थान के एक कोर्ट में दर्ज100 वर्ष पुराने संपत्ति उत्तराधिकार मामले में कोर्ट ने यह फैसला सुनाया ।

1918 में बहावलपुर में दर्ज संपत्ति मामले जिसमें 700 एकड़ की उत्तराधिकार जमीन का विवाद था, बताया जाता है कि बंटवारे के पहले यह राजपूताना राज्य राजस्थान का हिस्सा था। बंटवारे के बाद इस मामले की सुनवाई पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के शहर बहावलपुर के कोर्ट में शुरु की गई। लेकिन बाद में 2005 में यह मामला पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट में स्थानांतरित कर दिया गया। शिकायतकर्ता जिसने मामले को सुनवाई के लिए बहावलपुर से इस्लामाबाद तक लाया, बताया कि अपने बड़े भाई शहाबुद्दीन इस जमीन का मालिक था। उसकी मृत्यु 1918 में हो गई थी उसके बाद से ये जमीन विवाद शुरु हो गया था।

पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश मिलान साकिब निसार की अगुवाई में 3 जजों की एक पीठ ने मामले की सुनवाई की। फैसले की सुनवाई करते हुए पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि इस्लामिक कानून के तहत संपत्ति का बंटवारा सही उत्तराधाकरियों के बीच किया जाना चाहिए। किसी को उसके कानूनी हिस्से से अदालत उसे वंचित नहीं रखेगी। उन्होंने आगे कहा कि, हजारों ऐसे मामले दशकों से पाकिस्तान के कोर्ट में लंबित पड़े हैं। कानूनी विशेषज्ञों का मानना है कि ऐसे मामलों का निपटारा तब तक नहीं किया जा सकता है जबतक पाकिस्तान दंड संहिता, क्रिमिनल प्रोसीजर और इविडेंस कानून में जरुरी संशोधन नहीं कर लिया जाता।

 

<script async src="//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js"></script> <script>      (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({           google_ad_client: "ca-pub-9844829140563964",           enable_page_level_ads: true      }); </script>

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*