1993 मुंबई हमले के दशतगर्दो को आज सुनाई जाएगी सजा, क्या होगा अबू सालेम का ?

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

मुंबई : 12 मार्च, 1993 को मुंबई को दहलाने वाले दशतगर्दो पर आज मुंबई की विशेष टाडा कोर्ट सजा का ऐलान करेगी. इस मामले में कुख्यात अबू सलेम सहित 5 दोषियों को सजा सुनाई जानी है. एक आरोपी मुस्तफा दौसा की पहले ही बीमारी के चलते मौत हो गई है. दोषियों ने सिलसिलेवार तरीके से मुंबई की कई जगह पर बम धमाके किए थे जिसमे ढाई सौ से अधिक लोगों की मौत हुई थी. जबकि 700 से ज्यादा घायल हुए थे. मुंबई बम ब्लास्ट में करीब 27 करोड़ रुपये की संपत्ति को नुकसान पंहुचा था. इस मामले में कुल 7 आरोपी थे, जिनमें से एक अब्दुल कयूम सबूतों के अभाव में बरी हो गया.

बता दे कि टाडा अदालत ने इस मामले में अबू सलेम, मुस्तफा दौसा, उसके भाई मोहम्मद दौसा, फिरोज अब्दुल राशिद खान, मर्चेंट ताहिर और करीमुल्लाह शेख को दोषी ठहराया था. इनमें से एक मुस्तफा दौसा की बीमारी के चलते इलाज के दौरान मौत हो गई.  इस मामले में जिस तरह से कोर्ट सख्त है उसे से अंदाजा लगाया जा सकता है कि दोषियों को कोई रहत नहीं मिलने वाली है. वही सीबीआई ने पांच दोषियों में से तीन के लिए सजा-ए-मौत और दो के लिए उम्रकैद की सजा देने की मांग की है.

1993 ब्लास्ट के में दोषी पाए गए आरोपियों में पुर्तगाल से 2005 में प्रत्यर्पित कर लाया गया माफिया डॉन अबु सलेम, मुस्तफा दोसा, मोहम्मद ताहिर मर्चेट, करीमुल्लाह खान, रियाज सिद्दीकी और फिरोज अब्दुल राशिद खान शामिल हैं. मुस्तफा को संयुक्त अरब अमीरात से प्रत्यर्पित कर लाया गया था, जिसकी मौत हो गई. एक अन्य प्रमुख आरोपी अब्दुल कयूम को सभी आरोपों से मुक्त कर दिया गया था. फिल्म स्टार संजय दत्त के घर हथियार और गोला-बारूद पहुंचाने में कयूम ने सलेम का साथ दिया था. कयूम को 13 फरवरी, 2007 को गिरफ्तार किया गया था.

इससे पहले इसी मामले में विशेष टाडा अदालत ने 100 आरोपियों को दोषी करार दिया था. इसमें याकूब अब्दुल रजाक मेनन भी शामिल था, जिसे 30 जुलाई, 2015 को फांसी दी गई. फिल्म अभिनेता संजय दत्त को आतंकवाद के आरोपों से बरी किया गया, लेकिन उन पर शस्त्र अधिनियम के तहत मुकदमा चलाया गया और दोषी करार दिया गया था. संजय दत्त ने अपनी पूरी सजा काटी और उन्हें फरवरी 2016 में जेल से रिहा किया गया.

 

 

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*