वेंगसरकर का खुलासा, विराट को टीम में नहीं चाहते थे धोनी

<script async custom-element=”amp-auto-ads”
src=”https://cdn.ampproject.org/v0/amp-auto-ads-0.1.js”>
</script>

 बीसीसीआई के पूर्व सिलेक्शन कमेटी चीफ दिलीप वेंगसरकर ने खुलासा किया कि कप्तान महेंद्रसिंह धोनी 2008 में विराट कोहली को टीम में शामिल करना नहीं चाहते थे।

वेंगसरकर ने कहा कि श्रीलंका के दौरे पर सचिन तेंडुलकर नहीं जा रहे थे, इसलिए एक बल्लेबाज को शामिल करना था। मैंने विराट को ऑस्ट्रेलिया में इमर्जिंग प्लेयर्स के टूर पर बल्लेबाजी करते हुए देखा था, इसलिए मैंने उन्हें टीम में शामिल किया। जबकि कप्तान धोनी और कोच गैरी कर्स्टन तमिलनाडु के एस बद्रीनाथ को टीम में लेना चाहते थे। बोर्ड के तत्कालीन कोषाध्यक्ष एन. श्रीनिवासन भी अपने राज्य के बद्रीनाथ को टीम में देखना चाहते थे।

वेंगसरकर ने कहा, मैंने वेस्टइंडीज के खिलाफ विराट को शतक बनाते हुए देखा था, इस टीम में कई टेस्ट खिलाड़ी शामिल थे। इसके अलावा उनके नेतृत्व में भारत ने अंडर-19 विश्व कप जीता था। इसलिए मैंने और सिलेक्टर्स ने विराट को टीम में शामिल करने पर जोर दिया।

धोनी इसलिए बद्रीनाथ को टीम में चाहते थे क्योंकि वो उनकी आईपीएल फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स में शामिल थे। विराट को टीम में शामिल करना श्रीनिवास को नागवार गुजरा था और इसका ‍खामियाजा मुझे अपना पद गंवाकर चुकाना पड़ा था। बद्रीनाथ को टीम में नहीं लिए जाने के कारण मुझे अपने पद से जल्दी हटना पड़ा था।

<script async src="//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js"></script> <script>      (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({           google_ad_client: "ca-pub-9844829140563964",           enable_page_level_ads: true      }); </script>

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*