हैट्रिक लगाने कुलदीप यादव की पर्सनल लाइफ है ठेठ बनारसी

<script async custom-element=”amp-auto-ads”
src=”https://cdn.ampproject.org/v0/amp-auto-ads-0.1.js”>
</script>

हैट्रिक लगाने कुलदीप यादव की पर्सनल लाइफ है ठेठ बनारसी

ये है न्यूज़ ऑफ़ माय इंडिया !!

उत्तरप्रदेश, मूल रूप से यूपी में जन्मे और प्ले-बड़े हुए टीम इंडिया के स्टार गेंदबाज कुलदीप यादव की पर्सनल लाइफ आज हम आपको बताते हैं। कुलदीप यूपी के औद्योगिक शहर कानपुर में पैदा हुए हैं और अभी उनकी उम्र महज 22 साल की है। उनके पिता राम सिंह यादव आज भी कानपुर में ईंटो का भट्ठा चलाते हैं और यही उनकी आजीविका का मुख्य साधन है। कुलदीप ने बचपन से बनारसी अंदाज़ में ज़िंदगी को जिया है इसीलिए वो मैदान में भी बिल्कुल सादे अंदाज़ में नज़र आते हैं। ये बात बहुत कम लोगों को पता है कि कुलदीप शुरू में तेज़ गेंदबाज़ बनना चाहते थे मगर, उनके बचपन के कोच कपिल पांडेय ने उन्हें ‘चाइनामैन’ गेंदबाज़ बनने की सलाह दी थी। उनकी दी गाइडेंस के बाद ही कुलदीप ने गेंद को ट्वीस्टी अंदाज़ में फेंकना शुरू किया और आज वो टीम इंडिया का ‘चाइनामैन’ है।

यूपी के इस गेंदबाज ने सबसे पहले संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में खेले गए अंडर 19 क्रिकेट विश्वकप में कुलदीप ने अपनी गेंदबाजी का जादू दिखाया था और कुल 6 मैचों में उन्होंने 14 विकेट हासिल किए थे। इसके बाद कुलदीप को आईपीएल में जगह मिली मगर, कोई कमाल नहीं हो सका और वो मैच ही नहीं खेल पाए, इसी दौरान नेट प्रैक्टिस में उन्हें सचिन तेंदुलकर को गेद फेंकने का मौका मिला और उन्होंने उन्हें आउट कर दिया था। आज कुलदीप आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स टीम का हिस्सा हैं और अब टीम इंडिया के ‘चाइनामैन’

आज कुलदीप गेंद को बाएं हाथ से कलाई से स्पिन कराते हैं, ये बहुत कम देखने को मिलता है। क्रिकेट की भाषा में इस तरह के गेंदबाज़ को ‘चाइनामैन’ कहा जाता है, जो गेंद को किसी भी तरफ मोड़ने की ताकत रखता है। कुलदीप से पहले ऑस्ट्रेलिया के ब्रैड हॉग और विचित्र एक्शन वाले दक्षिण अफ्रीका के पॉल एडम्स चर्चित चाइनामैन गेंदबाज़ रहे हैं, जो गेंदबाजी के जादूगर भी कहे गए हैं।

गुरूवार को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरे वनडे मैच में भारत के खब्बू चाइनामैन गेंदबाज़ कुलदीप यादव ने हैट्रिक लेकर भारत की जीत की राह आसान कर दी और टीम इंडिया को गेंदबाजी के जादूगर की उपस्थिति का एहसास भी हो गया। इस हैट्रिक के बाद कुलदीप अंतरराष्ट्रीय वनडे मैचों में हैट्रिक लेने वाले वह तीसरे भारतीय गेंदबाज़ बन गए हैं।

कुलदीप ने कोलकाता में ऑस्ट्रेलियाई पारी के 33वें ओवर की दूसरी, तीसरी और चौथी गेंद पर क्रमश: मैथ्यू वेड, एश्टन एगर और पैट कमिन्स के विकेट लिए और चाइनामैन होने का बड़ा सबूत सभी को दिया। आपको ये भी बता दें कि चाइनामैन कुलदीप की यह पहली हैट्रिक नहीं है, इससे पहले वह 2014 अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप में स्कॉटलैंड के ख़िलाफ हैट्रिक ले चुके हैं।

<script async src="//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js"></script> <script>      (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({           google_ad_client: "ca-pub-9844829140563964",           enable_page_level_ads: true      }); </script>

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*