समझें कर्नाटक का खेल, ऐसे बचेगी येदियुरप्पा की कुर्सी

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक में सरकार बना चुकी बीजेपी और बीएस येदियुरप्पा को बड़ा झटका दिया है. अदालत ने शनिवार शाम 4 बजे से पहले फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया है. इससे पहले राज्यपाल वजुभाई वाला ने येदियुरप्पा सरकार को शपथ दिलाते हुए बहुमत परीक्षण के लिए 15 दिन का समय दिया था. ऐसे में अब कर्नाटक में नंबर गेम काफी अहम हो गया है.

कर्नाटक विधानसभा में 222 सीटों के लिए चुनाव हुए हैं. यानी बहुमत के लिए 112 सीटों की जरूरत होगी. बीजेपी के 104 विधायक जीतकर आए हैं. जेडीएस के 37 और कांग्रेस के 78 विधायक और 3 अन्य जीत कर आए हैं. यानी बहुमत साबित करने के लिए बीजेपी को अभी भी 8 विधायकों की जरूरत पड़ेगी. लेकिन जेडीएस के कुमारस्वामी दो सीटों से जीतकर विधायक बने हैं. ऐसे में उन्हें एक सीट से इस्तीफा देना पड़ेगा. तो फिर 221 सीट के लिहाज से बीजेपी को 111 सीटों की जरूरत पड़ेगी बहुमत साबित करने के लिए .

बहुमत की जोड़तोड़ के बीच कांग्रेस और जेडीएस ने अपने विधायकों को बस में ले जाकर हैदराबाद के होटल में रखा है. कांग्रेस और जेडीएस का दावा है कि उनके पास 115 विधायक हैं. केवल एक विधायक आनंद सिंह साथ मौजूद नहीं है. हालांकि, उनके समर्थन पत्र का दावा भी कांग्रेस कर रही है.

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*