Loc फायरिंग : राजनाथ बोले – किसी ने इतना मां का दूध नहीं पिया है कि वो भारत को कश्मीर से अलग कर सके

<script async custom-element=”amp-auto-ads”
src=”https://cdn.ampproject.org/v0/amp-auto-ads-0.1.js”>
</script>

पाकिस्तान अपनी करतूतों से बाज नहीं आ रहा है। जम्मू-कश्मीर में इस नापाक देश ने एक बार फिर से सीजफायर का उल्लंघन किया है। इस हमले में भारतीय सेना के एक अफसर कपिल कुंडू समेत तीन जवान शहीद हो गए। इसके साथ ही तीन जवान गंभीर रूप से घायल भी हुए हैं। भारतीय सेना ने भी इसका जवाब देते हुए पाकिस्तान के कई बंकर तबाह कर दिए। लेकिन लगता है कि पाकिस्तान के मंसूबे ठीक नहीं हैं तभी उसके राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री अपनी भड़ास निकाल रहे हैं। पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन और प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी ने धमकी भरे अंदाज में कहा है कि जब तक कश्मीर समस्या का समाधान नहीं हो जाता तब तक शांति बहाल नहीं हो सकती है।

इधर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी पाकिस्तान को चेता दिया है कि किसी ने इतना मां का दूध नहीं पिया है कि वो भारत को कश्मीर से अलग कर सके। उन्होंने पाकिस्तान पर बरसते हुए कहा कि हमारा एक पड़ोसी देश है पाकिस्तान जो कहता रहता है कि कश्मीर को भारत से अलग कर देंगे। राजनाथ सिंह ने अगरतला में कहा कि मैंने अपनी सिक्युरिटी फोर्सेस को सीधा ऑर्डर दिया है। अगर पाकिस्तान की तरफ से हमारी बॉर्डर पर एक भी गोली चलाई जाए तो आप अनगिनत गोलियों से जवाब दें। किसी ने मां का दूध नहीं पिया है जो कश्मीर को भारत से अलग कर सके। कश्मीर भारत का था, है और हमेशा रहेगा। इससे पहले भी राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को करारा जवाब देते हुए कहा था कि पाकिस्तान अगर हमारे 4 सैनिकों को शहीद करेगा तो भारत पाकिस्तान के 40 सैनिकों की जान लेगा।

उप सेना प्रमुख शरत चंद ने कहा कि पाकिस्तान की सेना सीमा पर आतंकियों की घुसपैठ का समर्थन करती है। लेकिन भारत इसका मुंहतोड़ जवाब देता रहेगा और सेना की कार्रवाई खुद हकीकत बयां करेगी।

<script async src="//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js"></script> <script>      (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({           google_ad_client: "ca-pub-9844829140563964",           enable_page_level_ads: true      }); </script>

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*