टॉयलेट पेपर से मल साफ करना आपको पड़ सकता है भारी

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

!!ये है न्यूज़ ऑफ़ माय इंडिया!!

वैज्ञानिको का कहना है कि टॉयलेट साफ करने के लिए इस्तेमाल होने वाला टिशू पेपर बेहद खतरनाक है. इस मामले में विशेषज्ञों ने अमेरिका को चेतावनी जारी की है और टॉयलेट पेपर न इस्तेमाल करने की सलाह दी है. दरअसल, मात्र अमेरिका ही ऐसा देश है, जो मल की साफ़-सफ़ाई के लिए टॉयलेट पेपर पर निर्भर है. डॉक्टर्स ने इसे ख़तरनाक बताते हुए कहा है कि टॉयलेट पेपर का इस्तेमाल आपकी ज़िंदगी पर काफ़ी भारी पड़ सकता है और परिणाम स्वरूप Anal Fissures और Urinary Tract Infections (यूटीआई) जैसी गंभीर समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं.

जबकि जापान, इटली और ग्रीस जैसे देश शौच के लिए टॉयलेट पेपर की बजाए Bidets का उपयोग करते हैं. वहीं Will Smith और Terrence जैसी हस्तियों ने कहना कि Potty क्लीन करने के लिए टिशू से बेहतर Baby Wipes हैं.

 

इटली, स्पेन और ग्रीस में 90 प्रतिशत घरों में सफ़ाई के लिए बाथरूम में Bidet लगे हुए हैं, जो मल सफ़ाई का एक बेहतरीन उपकरण है और टिशू पेपर से ज़्यादा सेफ़ है. Bidet सप्लायर्स का कहना है कि अमेरिका में इसको बेचना काफ़ी मुश्किल है, क्योंकि वहां के लोग टॉयलेट पेपर पर इतने अधिक निर्भर हैं कि उसके अलावा उन्हें कोई और चीज़ रास ही नहीं आती.

इसके साथ ही एक्टर और डॉयरेक्टर Will Smith BBC 1 रेडियो को दिए इंटरव्यू में Baby Wipes की काफ़ी प्रंशसा भी कर चुके हैं.

विशेषज्ञों के मुताबिक, टिशू पेपर से मल पोंछने पर हमारे प्राइवेट पार्टस अच्छी तरह से साफ़ नहीं हो पाते, जिससे शरीर में विषाणु पैदा हो जाते हैं. यहां तक कि कुछ लोग टिशू पेपर से प्राइवेट पार्ट्स को रगड़-रगड़ कर साफ़ करते हैं, जो कि बावासीर और दर्द का कारण भी बन सकता है.
क्या है इलाज

1. Bidets के इस्तेमाल से Urinary Tract Infections को रोका जा सकता है.

2. बवासीर होने पर डॉक्टर्स से सलाह-परामर्श कर, दवा लें या फिर क्रीम लगाएं.

 

3. महिलाएं Urinary Tract Infections से जल्दी ग्रसित होती हैं, इसीलिए उन्हें साफ़-सफ़ाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए.
4. शौच की जगह पर टिशू पेपर को ज़ोर-ज़ोर से रगड़ना नहीं चाहिए.
वैसे आज कल भारत में लोग मल साफ़ करने के लिए टिशू पेपर का इस्तेमाल करने लगे हैं, जो कि आगे चल कर काफ़ी घातक साबित हो सकता है. ख़ुद को बीमारियों से दूर रखना है, तो शौच के लिए पानी या फिर Bidets का ही उपयोग करिए.

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*