DMK प्रमुख की आखिरी यात्रा में उमड़ा जनसैलाब,मरीना बिच में दफनाए जायेंगे

<script async custom-element=”amp-auto-ads”
src=”https://cdn.ampproject.org/v0/amp-auto-ads-0.1.js”>
</script>

नई दिल्ली. तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और डीएमके प्रमुख एम करुणानिधि का मंगलवार को निधन हो गया.  वह 94 साल के थे. पांच बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे करुणानिधि काफी समय से बीमार चल रहे थे.  बीते दिनों 28 जुलाई को तबीयत बिगड़ने के बाद चेन्नई के कावेरी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. मगर मंगलवार की शाम 6 बजकर 10 मिनट पर उन्होंने आखिरी सास ली. उनके निधन के बाद भारतीय राजनीति में शोक समां गया हैं. उनके निधन पर राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित तमाम नेताओं ने शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी.

तमिलनाडु सरकार ने विपक्षी द्रमुक और पूर्व मुख्यमंत्री एम. करूणानिधि को दफनाने के लिए मरीना बीच पर जगह देने से मना कर दिया और उसे इसके लिए पूर्व मुख्यमंत्री सी राजगोपालचारी और के कामराज के स्मारकों के समीप जगह देने की पेशकश की. सरकार के इस कदम पर विवाद पैदा हो गया है और अब यह मामला मद्रास हाईकोर्ट तक पहुंच गया है, जिस पर आज 8 बजे सुनवाई हुई. डीएमके की याचिका पर मद्रास हाईकोर्ट ने याचिका पर सुनवाई के बाद फैसले में कहा कि करुणानिधि को मरीना बीच पर दफनाया जाएगा.एआईडीएमके सरकार ने मरीना बीच पर दफनाए जाने की इजाजत नहीं दी थी, जिसके बाद डीएमके ने हाईकोर्ट का रुख किया था.

<script async src="//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js"></script> <script>      (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({           google_ad_client: "ca-pub-9844829140563964",           enable_page_level_ads: true      }); </script>

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*