इंडिया में अंडे भी नकली बन रहे हैं, हो जाइये सावधान

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

इंडिया में अंडे भी नकली बन रहे हैं, हो जाइये सावधान

ये है न्यूज़ ऑफ़ माय इंडिया !!

नई दिल्ली, संडे हो या मंडे रोज खाओ अंडे, अब ये नारा ज़रा सावधानी से अम्ल में लाईयेगा। क्योंकि हिन्दुस्तान में कुछ लोगों ने पैसों की खातिर नकली अंडे बनाना भी शुरू कर दिया है। दरअसल, हम आज आपको इस बात का खुलासा करने जा रहे हैं कि नकली अंडे खाने से आपकी सेहत भी बिगड़ सकती है। इसलिए अंडे खाने से पहले ये जांच लीजिये कि वो असली हैं या नकली !

यूपी और उत्तराखंड के कुछ इलाकों में नकली अंडे बनाये जाने की बात सामने आयी है, सूत्रों की मानें तो नकली अंडे के बाहरी हिस्से को बनाने के लिए जिप्सम चूर्ण, कैल्शियम कार्बोनेट और तेल युक्त मोम का इस्तेमाल होता है। ये अंडे दिखने में बिलकुल असली अंडे जैसे दिखते हैं मगर, इनमें पोषण तत्व नहीं होते हैं। नकली अंडे में अंदर वाला हिस्सा जिलोटिन, सोडियम एल्गिनाइट से तैयार किया जाता है, इन्हें बनाने के लिए गरम गुनगुने उचित पानी में सोडियम एल्गिनाइट मिलाया जाता है और फिर पकाकर तैयार होते हैं नकली अंडे, जो ज्यादातर उबले हुए अंडे की शक्ल ले लेते हैं और बाजार में धड़ल्ले से बिकते हैं।

नकली अंडों की पहचान बड़ी ही बारीकी से करनी चाहिए, इन अंडों का बाहरी छिलका हल्के भूरे कलर और खुरदरा होता है और उबालने के बाद ये फिर पिघलने लगता है। यानी अब अंडे खाएं तो पहले ये जांच लें कि वो असली हैं या नकली ?

वैज्ञानिक इन्हें रासयनिक अंडे भी मानते हैं, जो शरीर के लिए कई परेशानी कड़ी कर सकते हैं। तो यदि आप भी अंडे खाते हैं तो अब रोज़ाना उनकी बाहरी परत की जांच करके ही सेवन करें और नकली अंडे से बचकर रहें।

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*