EMI बढ़ने से आपके पॉकेट होंगे खाली,RBI के नए बयाज दरों में हुई बढ़ोतरी

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

नई दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में 25 बेसिस पॉइंट्स को बढ़ा दिया हैं. इस बढ़ोतरी का से ग्राहक पर जोरदार असर पड़ने वाला हैं.   सबसे ज्यादा असर उन लोगों पर पड़ेगा, जिन्होंने बैंकों से होम लोन, पर्सनल लोन या फिर ऑटो लोन लिया है.   इससे इन लोगो की हर महीनो की किस्त में इजाफा होगा.रेपो रेट वह दर है, जिस पर बैंक आरबीआई से लोन लेते हैं.  बैंकों के पास जब फंड की कमी होती है, तो इसकी पूर्ति करने की खातिर केंद्रीय बैंक से पैसे लेते हैं और वह एक फिक्स्ड रेट पर दिया जाता है.  इसी रेट को रेपो रेट कहा जाता है.

आरबीआई के रेपो रेट में बढ़ोत्तरी करने का कारण यह हैं देश में महंगाई का कंट्रोल हो सके.  इससे इकोनॉमी में मनी सप्लाई में कमी आती है.  इससे महंगाई पर नियंत्रण पाने में मदद म‍िलती है. रेपो रेट बढ़ता है, तो बैंकों के लिए आरबीआई फंड महंगा हो जाता है.  इस दबाव को बैंक ग्राहकों तक पहुंचाता हैं. इसी कारण ग्राहकों को मिलने वाला कर्ज महंगा हो जाता हैं.

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*