चंद्रग्रहण के प्रकोप से बचने के लिए करे इन 2 मंत्रो का जाप

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

नई दिल्ली: चंद्र ग्रहण ( Lunar Eclipse) साल 2018 का पहला ग्रहण है. इसे लेकर देश भर में उत्सुकता है. कई लोग इससे जुड़ी अच्छी-बुरी बातों को जांचने-परखने में लगे हैं, वहीं आज आए भूकंप (Earthquake) की वजह से यह और भी सुर्खियों में आ गया है. जब पृथ्वी, सूर्य और चंद्रमा के बीच आ जाती है तब वह चंद्रमा पर पड़ने वाली सूर्य की किरणों को रोकती है और उसमें अपनी छाया बनाती है. इस घटना को चंद्र ग्रहण कहा जाता है. इसे ब्लड मून (Blood Moon) भी कहा जाता है. चंद्र ग्रहण के मौके पर पढ़े जाने वाले कई मंत्र भी हैं और मान्यताएं भी हैं. जिन्हें समय-समय पर सिनेमा में दिखाया जाता रहा है. लेकिन अब कुछ मंत्रों को लेकर जिज्ञासा बढ़ गई है.

मान्यताओं के मुताबिक, चंद्र ग्रहण से घर के अपवित्र होने की बातें कही जाती हैं और भी कई तरह की अवधारणाएं चंद्र ग्रहण के साथ जोड़कर देखी जाती हैं. इसलिए पुरानी मान्यताओं में कुछ ऐसे मंत्र दिए गए हैं जिनके उच्चारण से चंद्र ग्रहण के कथित बुरे असर को कम किया जा सकता है. फिर आज आए भूकंप ने इस मान्यता को लेकर भी लोगो में हलचल पैदा कर दी है. शिव मंत्र, ‘ऊं नम: शिवाय’ और विष्णु मंत्र, ‘ऊं नमो भगवते वासुदेवाय नमः’ को लेकर लोगों में एक्साइटमेंट बढ़ गई है और वे इन मंत्रों को लेकर खोजबीन में लगे हैं.

31 जनवरी की रात को चांद पहले की अपेक्षा ज्यादा चमकीला दिखेगा और चांद के सुपर मून (Super Moon) और ब्लू मून (Blue Moon) रूप नजर आएंगे. यह 2018 का पहला ग्रहण होगा. इस खगोलीय घटना को सुपर ब्लू ब्लड मून (Super Blue Blood Moon) के नाम से पहचाना जाता है. बताया जा रहा है कि यह संयोग 152 साल बाद बन रहा है. ये शाम 5.58 मिनट पर शुरू होगा और 8.41 तक चलेगा. पूर्ण चंद्र ग्रहण 77 मिनट तक रहेगा.

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*