जितेंद्र के ख़िलाफ़ यौन उत्पीड़न आरोप में FIR दर्ज़, 47 साल पुराना है मामला

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

मुंबई। हिमाचल प्रदेश की शिमला पुलिस ने एक महिला की यौन उत्पीड़न की शिकायत पर जाने माने फिल्म अभिनेता जितेंद्र के ख़िलाफ़ एफ ई आर दर्ज़ कर ली है। अपने को जितेन्द्र की कज़िन बताते वाली पीड़ित महिला ने आरोप लगाया है कि 1971 में एक होटल के रूम में उनके साथ जितेंद्र ने गलत हरकत की।

शिमला के एसपी उमापति जामवाल ने बताया है कि छोटा शिमला पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 354 के तहत एफआईआर दर्ज़ कर ली गई है। पुलिस को मिली शिकायत के मुताबिक ये घटना 47 साल पहले की है जब पीड़िता 18 साल की थी और जितेंद्र 28 साल के। जितेंद्र को अपना कजिन बताने का दावा करने वाली महिला के मुताबिक जितेंद्र उस समय उनके दिल्ली स्थित घर पर आये और उन्हें शिमला में अपनी फिल्म की शूटिंग सेट पर ले गए। महिला के परिवार वालों ने घनिष्टता के चलते उन्हें जाने की इज़ाजत दे दी लेकिन वहां होटल ले जाकर नशे की हालत में जितेंद्र ने यौन शोषण किया। महिला के मुताबिक इतने समय तक वो चुप थीं लेकिन माँ- बाप के निधन के बाद उन्होंने ये कदम उठाने का फैसला किया क्योंकि अगर उन्हें ये बात पता चलती तो उनका दिल टूट जाता। इतने सालों तक वो मानसिक रूप से इस यातना को झेल रही थीं। उक्त महिला को जल्द ही मजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान दर्ज़ करवाने के साथ आरोपों के संबंध में सबूत भी देने होंगे।

जितेंद्र के वकील रिजवान सिद्दीकी ने पहले ही इस तरह के आरोपों को सिरे से खारिज़ करते हुए उसे बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा है कि करीब 50 साल पुराने इस तरह के बेबुनियाद और बकवास आरोपों को कोई भी कानून एंटरटेन नहीं करता। क़ानून के तहत भी कोई भी शिकायत तीन साल के भीतर करनी होती है ताकि उसकी अच्छी तरह से जांच हो। साथ ही क़ानून किसी को भी इस तरह की इजाजत नहीं देता कि किसी कथित छिपे हुए उद्देश्य के तहत कोई भी किसी व्यक्ति के ख़िलाफ़ सार्वजानिक रूप से तथ्यहीन आरोप लगाए। ये उनके मुवक्किल को नुकसान पहुँचाने की साजिश है।

  (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
    google_ad_client: “ca-pub-9844829140563964”,
    enable_page_level_ads: true
  });

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*